Class 4 Hindi

मुहावरे और उनके अर्थ – Class 4

मुहावरे और उनके अर्थ

कोई भी ऐसा वाक्यांश जो अपना साधारण अर्थ छोड़ कर विशेष अर्थ को व्यक्त करे, उसे मुहावरा कहते हैं | मुहावरे एक उदाहरण की तरह होती हैं जिनको भाषा में इस्तेमाल करके हम कठिन बातों को भी बड़ी सहजता के साथ दूसरों को समझा सकते हैं| आइये कुछ मुहावरे पढ़ते हैं और उनका अर्थ समझते हैं –

    1. पगड़ी उछालना = अपमानित करना
      वाक्य में प्रयोग: तुमने कल सबके सामने मेरी पगडी उछाली है |
    2. अपने पाँव में आप कुल्हाड़ी मारना = खुद को जानबूझकर किसी मुसीबत में डालना
      वाक्य में प्रयोग: उससे तकरार कर तुमने अपने पाँव आप कुल्हाड़ी मारी है।
    3. अपने मुँह मियाँ मिट्ठू बनना = स्वयं अपनी प्रशंसा करना
      वाक्य में प्रयोग: ममता अपने स्वादिष्ट व्यंजनों का बखान करती अपने ही मुँह मियाँ मिट्ठू बन रही थी।
    4. पाँव उखड़ जाना = स्थिर न रह पाना
      वाक्य में प्रयोग: आँसू गैस छोड़े जाने पर आंदोलनकारियों के पाँव उखड़ गए
    5. आँख का काँटा होना = शत्रु होना
      वाक्य में प्रयोग: समर्थ आजकल रवि के लिए आँखों का काँटा हो गया है |
    6. आँख का तारा = बहुत प्यारा
      वाक्य में प्रयोग: रोहन मेरी आँखों का तारा है |
    7. पारा उतरना = क्रोध शांत होना
      वाक्य में प्रयोग: जब कमल ने रोहन से माफ़ी माँगी तब उसका पारा उतर गया |
    8. आँखों में धूल झोंकना = धोखा देना
      वाक्य में प्रयोग: अजीत अपने मित्र के आँखों मे धूल झोंक रहा है।
    9. आकाश पाताल एक करना = खूब परिश्रम करना
      वाक्य में प्रयोग: अजय ने नौकरी पाने के लिए आकाश पाताल एक कर दिया है |
    10. पानी – पानी हो जाना = अत्यंत लज्जित होना
      वाक्य में प्रयोग: जुआ खेलते हुए अचानक अपने पिता द्वारा देख लिये जाने पर दिनेश पानी पानी हो गया |
    11. आग में घी डालना = झगड़ा बढ़ाना
      वाक्य में प्रयोग: हमें उन लोगों की बातों में नहीं आना चाहिए जो आग में घी डालते हैं |
    12. आस्तीन का साँप = मित्र के रूप में शत्रु
      वाक्य में प्रयोग: जितेंद्र पर कभी भरोसा मत करना, वह तो आस्तीन का साँप है |
    13. फूँक – फूँक कर कदम रखना = बड़ी सावधानी से काम करना
      वाक्य में प्रयोग: व्यापार में फूँक – फूँक कर कदम रखना चाहिए |
    14. उल्लू सीधा करना = काम निकालना
      वाक्य में प्रयोग: नेताजी की खुशामद करके आखिर महेश ने अपना उल्लू सीधा कर ही लिया |
    15. कलेजा मुँह को आना = घबराना
      वाक्य में प्रयोग: उसकी विपत्ति की कहानी सुनकर कलेजा मुँह को आ जाता है |
    16. फूले न समाना = बहुत प्रसन्न होना
      वाक्य में प्रयोग: परीक्षा में अव्वल आने पर संजना फूला न समाई |
    17. कान पर जूं न रेंगना = कुछ भी ध्यान न देना
      वाक्य में प्रयोग: मैं इतनी देर से तुम्हें समझा रहा हूँ, लेकिन तुम्हारे कान पर जू तक नहीं रेंगती |
    18. कान भरना = किसी के विरुद्ध कोई बात कहना
      वाक्य में प्रयोग: एक दुसरे के कान भरना अच्छी बात नहीं है।
    19. बाग – बाग होना = बहुत प्रसन्न होना
      वाक्य में प्रयोग: नौकरी मिलने पर संगीता बाग – बाग हो गयी |
    20. घुटना टेक देना = हार मान लेना
      वाक्य में प्रयोग: युद्ध में पाकिस्तान ने आख़िरकर भारत के सामने घुटने टेक दिए |

About the author

Avatar

Mamta

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.